15th Aug 2019: আসন্ন অষ্টম মেম্বারশীপ ভেরিফিকেশন ,

১৬ সেপ্টেম্বর, ২০১৯ অষ্টম মেম্বারশীপ ভেরিফিকেশন এ বিএসএনএল এমপ্লয়িজ ইউনিয়ন কে পুনরায় বিপুল ভোটে জয়যুক্ত করুন 

 

20th Mar 2019: বিএসএনএলইইউ এর ১৯তম প্রতিষ্ঠা দিবস পালন করুন,

আগামী ২২ মার্চ ২০১৯  বিএসএনএলইইউ এর ১৯তম প্রতিষ্ঠা দিবস বিএসএনএল এর প্রতিটি অফিস দফতরে ব্যাপক ঊদ্দীপনার সাথে পালন করুন। 

 

Com Prabir Kumar Dutta
( President )

Com. Sisir Kumar Roy
( Secretary )

Com. Debasis Dey
( Treasurer )

 
 
bsnleuctc@yahoo.co.in
 
BSNL Employees Union Calcutta Telephones Circle
 
Site Updated On : 16th Jan 2020
 
[12th Nov 2019]

छोटे स्तर के कर्मचारियों के लिए VRS लाभप्रद नही है.

 

प्रबंधन और उनके कुछ एजेंट्स यह प्रचारित कर रहे हैं कि VRS बेहद आकर्षक है। किन्तु यह छोटे स्तर के कर्मचारियों के लिए लाभप्रद नही है। सही कहा जाए तो, छोटे स्तर के कर्मचारी जैसे टेलीकॉम टेक्नीशियन्स यदि VRS पर जाते हैं तो उन्हें अत्यधिक नुकसान होगा।

 

 

 

जिस टेलीकॉम टेक्नीशियन की बेसिक पे रु 21,730 है और जिनकी अभी 3 वर्ष 4 माह की सर्विस शेष है, उनका विवरण निम्नानुसार है।

 

 

 

वेतन का नुकसान

 

यदि ये टेलीकॉम टेक्नीशियन VRS पर जाते हैं तो उनको रु 16,42,800 एक्सग्रेशिया के रूप में प्राप्त होंगे।

 

 

वें यदि अपनी शेष सर्विस 60 वर्ष तक जारी रखते हैं तो उन्हें शेष सर्विस अवधि के लिए बेसिक पे + DA के रूप में रु 21,90,400 प्राप्त होंगे। इसका मतलब, VRS लेने पर उन्हें केवल पे+DA के रूप में ही रु 5,47,600 का नुकसान होगा।

 

 

इसके अलावा, एक्सग्रेशिया की राशि रु 16,42,800 के लिए उनका इनकम टैक्स भी कटेगा। साथ ही, सोसाइटी लोन, बैंक लोन और अन्य सभी प्रकार के लोन जैसे हाउस बिल्डिंग आदि की भी कटौती होगी। अंततः, एक्सग्रेशिया की बेहद कम राशि कर्मचारी को प्राप्त होगी।

 

 

उपर्युक्त के अलावा, उन्हें, 'C' क्लास शहर में पोस्टिंग होने के बावजूद जहां 10% HRA की पात्रता है, रु 2,173/- का प्रत्येक माह HRA का भी नुकसान होगा। यानी, 3 वर्ष और 4 माह में रु 86,920/- की कुल हानि होगी।

 

 

साथ ही, सुपरएन्युएशन की दिनांक तक सेवा में रहने पर उन्हें 3 इन्क्रीमेंट भी मिलेंगे। इन 3 इन्क्रीमेंट की वजह से 60 वर्ष की उम्र में रिटायर होने की वजह से ज्यादा पेंशन प्राप्त होगी।

 

 

पेंशन का नुकसान

 

यदि उपर्युक्त कर्मचारी VRS पर जाता है तो उन्हें रु 10,865 पेंशन प्राप्त होगी।

 

 

यदि वो अपनी सर्विस जारी रखते हैं और 3 वर्ष 4 माह पश्चात 60 वर्ष की आयु में रिटायर होते हैं तो उन्हें

रु 11,885 पेंशन प्राप्त होगी (3 इन्क्रीमेंट जोड़ कर)।

 

 

अतः, केवल मूल पेंशन में ही कर्मचारी को रु 1,020 प्रति माह का नुकसान होगा। इसके अलावा, बेसिक पेंशन पर उन्हें देय DA का भी प्रति माह नुकसान होगा। आज के DA के रेट 152% अनुसार यह नुकसान रु 1,550 होगा। इस प्रकार, कुल मिला कर पेंशन में रु 2,570 का नुकसान प्रतिमाह होगा। यह पेंशन में एक बड़ा नुकसान होगा, उनके जीवित रहने तक। इसके अतिरिक्त कर्मचारी का ग्रेच्यूईटी और कम्युटेशन में भी नुकसान होगा।

 

 

कर्मचारियों में भय निर्मित करने के लिए कई प्रकार की अफवाहें भी फैलाई जा रही है, जिससे कि बड़ी संख्या में कर्मचारी VRS ऑप्ट करें। प्रसारित की जारी विभिन्न अफवाहों /असमंजस (confusions) का जवाब निम्नानुसार है।

 

 

58 वर्ष

 

कैबिनेट द्वारा रिटायरमेंट की आयु घटा कर 58 वर्ष कर दी गई है, इस अफवाह की वजह से बड़ी संख्या में कर्मचारी VRS पर जा रहे हैं। यह पूर्णतः गलत सूचना है। यदि कैबिनेट द्वारा रिटायरमेंट की आयु घटा कर 58 वर्ष करने का निर्णय ले लिया गया है तो उसकी घोषणा अभी तक खुले तौर क्यों नही की गई है ?

 

 

यह सत्य है कि इस तरह का, रिटायरमेंट की आयु 58 वर्ष किए जाने का, कोई भी निर्णय कैबिनेट द्वारा नही लिया गया है।

 

 

कुछ षड्यंत्रकारी तत्वों द्वारा कर्मचारियों में भय निर्मित कर उन्हें VRS पर बाध्य करने के उद्देश्य से यह अफवाह प्रसारित की जा रही है।

 

 

33 वर्ष की सर्विस पश्चात छंटनी

 

बड़े पैमाने पर यह अफवाह भी फैलाई जा रही है कि ऐसे कर्मचारी जिनकी 33 वर्ष की सर्विस पूर्ण ही गई हों या 60 वर्ष की आयु, जो भी पहले हो, केंद्र सरकार छंटनी करने जा रही है। यह भी पूर्ण रूप से झूठी खबर है। दिनांक 24.09.2019 के टाइम्स ऑफ इंडिया में यह स्पष्ट किया जा चुका है कि सरकार के पास ऐसा कोई प्रस्ताव नही है।

 
[2nd Nov 2019]

ভিআরএস সম্পূর্ণ ভাবে কর্মচারীদের ইচ্ছার উপর নির্ভর - কর্তৃপক্ষের কোনও কর্মচারীকে ভিআরএস নিতে বাধ্য করার চেষ্টা আমরা মেনে নেব না

 

বিএসএনএল ও এমটিএনএল এ স্বেচ্ছা অবসর প্রকল্প এদের পুনরূজ্জীবন প্রকল্পের একটি অংশ যা গত ২৩.১০.২০১৯ কেন্দ্রীয় ক্যাবিনেট অনুমোদন করেছে। শ্রী রবি শঙ্কর প্রসাদ, মাননীয় যোগাযোগ ও তথ্যপ্রযুক্তি মন্ত্রী ঐদিন প্রচার মাধ্যমের সাংবাদিকদের বলেন যে বিএসএনএল ও এমটিএনএল এর ভিআরএস চালু সম্পূর্ণ কর্মীর ইচ্ছার উপর নির্ভর, যার অর্থ কাউকে ভিআরএস নিতে বাধ্য করা হবে না। যদিও বিএসএনএল এর কর্তৃপক্ষের পক্ষ থেকে কর্মচারীদের মধ্যে আতঙ্ক ছড়িয়ে তাদের ভিআরএস নিতে বাধ্য করার চেষ্টা করা হচ্ছে। শ্রী পি কে পারওয়ার, সিএমডি বিএসএনএল গত ২৫.১০.২০১৯ কর্পোরেট অফিসে যে বক্তব্য রাখেন তার অন্যতম লক্ষ্য কর্মচারীদের মনে আতঙ্ক ছড়ানো। শ্রী পি কে পারওয়ার বিএসএনএল এর আধিকারিকদের ও কর্মচারীদের আনুগত্য ও কর্ম সংস্কৃতি না জেনে তাদের বিরুদ্ধে অভব্য বক্তব্য রাখেন যারা স্বেচ্ছায় 'কাস্টমার ডিলাইট আন্দোলন','সার্ভিস উইথ এ স্মাইল' এবং 'বিএসএনএল এট ইওর ডুর স্টেপ' এর মত প্রকল্পের মাধ্যমে বিএসএনএল এর পরিষেবার মান উন্নতি, রেভিনিউ বৃদ্ধি ও গ্রাহক সন্তুষ্টি বৃদ্ধি করেন। তাই শ্রী পি কে পারওয়ার এর বক্তব্য কর্মচারীদের সমস্ত অংশের পক্ষ থেকে খন্ডন করা হচ্ছে।

তাছাড়া গত ২৩.১০.২০১৯ কেন্দ্রীয় ক্যাবিনেট যে পুনরুদ্ধার প্রকল্প অনুমোদন করে এবং প্রেস ইনফরমেশন ব্যুরো যে বিজ্ঞপ্তি প্রকাশ করে সেখানে কোথাও অবসরের বয়স ৬০ থেকে ৫৮ বছর করার কথা নেই, সে ব্যাপারে আমরা সবার দৃষ্টি আকর্ষণ করছি। যদিও গুজব ছড়ানো হচ্ছে বিএসএনএল এ অবসর এর বয়স ৫৮ করা হবে যার মাধ্যমে বিএসএনএল এর সমস্ত কর্মচারীদের মনে আতঙ্ক ছড়ানোর চেষ্টা করছে। আমরা পরিষ্কার ভাবে কর্মচারীদের জানাচ্ছি যে বিএসএনএল গঠনের সময় ক্যাবিনেট নির্দিষ্ট করে বলেছিলেন যে বিএসএনএল কর্মচারীদের অবসরের বয়স কেন্দ্রীয় সরকারের নিয়ম অনুযায়ী হবে। তাই কর্মচারীদের আতঙ্কিত হওয়ার কোনও কারণ নেই। আমরা অবশ্যই কর্মচারীদের মনে আতঙ্ক ছড়িয়ে কর্তৃপক্ষ যদি তাদের ভিআরএস নিতে বাধ্য করে তাহলে মেনে নেব না।

পি অভিমন্যু, সাধারণ সম্পাদক

 
[26th Oct 2019]
 

Image result for happy diwali images 2019

 
[26th Oct 2019]

कॉर्पोरेट ऑफिस में 25-10-2019 को दिया गया CMD BSNL का उद्बोधन मनमानी पूर्ण, अस्वीकार्य और निंदनीय है...

 

श्री पी के पुरवार, CMD BSNL द्वारा कल कॉर्पोरेट ऑफिस के कर्मचारियों के बीच दिए गए उद्बोधन की व्यापक तौर पर आलोचना हो रही है। CHQ को CMD के उद्बोधन, जो कि पूर्ण रूप से नकारात्मकता लिए हुए था, पर रोष प्रकट करते हुए कई कॉमरेड्स के कॉल्स और मैसेजेस प्राप्त हो रहे हैं। CMD BSNL ने अपने उद्बोधन में कहा कि....


a) आज BSNL कर्मियों का जिस तरह का आचरण और व्यवहार है, वह नही चलेगा।
b) 50 वर्ष या उससे अधिक आयु के सभी कर्मचारी VRS लें और जाएं।
c) कोई भी कर्मचारी, जितना कार्य आज कर रहा है, उसका दो गुना योगदान नही दे सकता है, तो वह BSNL में रहने योग्य नही है, वह BSNL को अलविदा (good bye) कहे। 


CMD BSNL का उपरोक्त कथन मनमानी पूर्ण, अस्वीकार्य और निंदनीय है। उन्होंने BSNL के उन कर्मचारियों को अपमानित किया है, जिन्होंने अपने समर्पण और कठोर परिश्रम से BSNL की जीवंतता सुनिश्चित की है। माननीय संचार मंत्री ने भी कहा है कि VRS पूर्ण रूप से स्वैच्छिक होगी और किसी पर भी VRS लेने हेतु दबाव नही बनाया जाएगा। फिर भी, इसका उल्लंघन करते हुए CMD BSNL ने कहा कि 50 वर्ष या उससे अधिक आयु के सभी कर्मचारी VRS लें और जाएं। इस तरह के मनमानीपूर्ण रवैये को नजरअंदाज नही किया जा सकता है। BSNLEU द्वारा सभी साथियों को सूचित किया जाता है कि इस प्रकरण में यथोचित कार्यवाही करने हेतु, वह AUAB के अन्य घटकों के संपर्क में है।

 
[26th Oct 2019]

কর্পোরেট অফিসে গত ২৫ অক্টোবর সিএমডি, বিএসএনএল এর বক্তব্য অত্যন্ত আত্মম্ভরী, অস্বীকার্য ও নিন্দনীয়

 

শ্রী পি কে পারওয়ার, সিএমডি বিএসএনএল গতকাল কর্পোরেট অফিসের কর্মচারীদের সামনে যে বক্তব্য রাখেন তা নিয়ে সারা দেশ জুড়ে ব্যাপক আলোচনা চলছে। সিএইচকিউ এর কাছে সিএমডি বিএসএনএল এর এই নাবাচক বক্তব্য নিয়ে দেশের বিভিন্ন প্রান্ত থেকে অনেক কমরেডের ফোন ও মেসেজ আসছে । সিএমডি বিএসএনএল তার বক্তব্যে বলেন :-

ক) বিএসএনএল কর্মচারীরা বর্তমানে যে আচরণ ও ব্যবহার করেন তা করা চলবে না।

খ) যে সমস্ত কর্মচারীর বয়স ৫০ বা তার বেশি তাদের স্বেচ্ছা অবসর নিয়ে চলে যাওয়া উচিত।

গ) যে সমস্ত কর্মচারী আজ যে পরিমাণ কাজ করছেন তার দ্বিগুণ পরিমাণ আগামী দিনে করতে পারবেন না তাদের বিএসএনএল এ থাকার যোগ্যতা নেই এবং তারা বিএসএনএল ছেড়ে চলে যেতে পারেন।

সিএমডি বিএসএনএল এর উপরোক্ত বক্তব্য আত্মম্ভরী, অস্বীকার্য ও নিন্দনীয়। তিনি তার বক্তব্যে বিএসএনএল এর সেই সমস্ত কর্মচারীদের অপমান করেছেন যারা তাদের আত্মত্যাগ ও কঠোর পরিশ্রমে বিএসএনএল কে বাঁচিয়ে রেখেছে। মাননীয় যোগাযোগ ও তথ্যপ্রযুক্তি মন্ত্রী তার বক্তব্যে বলেন যে ভিআরএস সম্পূর্ণ কর্মীর ইচ্ছার উপর নির্ভর করবে এবং এব্যাপারে কাউকে বাধ্য করা হবে না । কিন্তু সিএমডি বিএসএনএল তার বক্তব্যে যে সমস্ত কর্মচারীর বয়স ৫০ বা তার বেশি তাদের স্বেচ্ছা অবসর নিয়ে চলে যাওয়া উচিত বলেছেন। এই ধরনের আত্মম্ভরীতা কোন ভাবেই মেনে নেওয়া সম্ভব নয়। বিএসএনএলইইউ সমস্ত কর্মচারীদের জানাচ্ছে যে এইউএবি নেতৃত্বের সঙ্গে আলোচনা করে এবিষয়ে উপযুক্ত পদক্ষেপ গ্রহণ করবে।

পি অভিমন্যু, সাধারণ সম্পাদক

 
[25th Oct 2019]

4G स्पेक्ट्रम और BSNL के रिवाइवल हेतु वित्तीय सहयोग, यूनियन्स व एसोसिएशन्स द्वारा  संयुक्त संघर्ष के माध्यम से कड़े संघर्षों पश्चात प्राप्त उपलब्धि हैं..

 

सरकार ने BSNL के रिवाइवल हेतु 4G स्पेक्ट्रम और वित्तीय सहयोग उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है।  हमे यह समझना चाहिए कि यह BSNL को अप्रत्याशित रूप से प्राप्त हुआ लाभ नहीं है, वरन, यह यूनियन्स व एसोसिएशन्स द्वारा  संयुक्त संघर्ष के माध्यम से कड़े संघर्षों पश्चात हासिल की गई उपलब्धियां है। BSNL के रिवाइवल हेतु आवश्यक कदम उठाए जाने की मांग को ले कर यूनियन्स व एसोसिएशन्स द्वारा पूर्व में शुरुआत में फोरम के बैनर के तहत और वर्तमान में AUAB के बैनर तले, विगत 4 वर्षों में शानदार हड़ताल व कई अन्य अभियान चलाए गए हैं। इन सभी संघर्षों में, तनख्वाह कटने और BSNL मैनेजमेंट की व सरकार की विभिन्न धमकियों की परवाह किए बिना, BSNL के  कर्मचारियों और अधिकारियों ने बड़ी संख्या में हिस्सा लिया। हम यह नही भूल सकते हैं कि इसी वर्ष 18 से 20 फरवरी को हुई BSNL कर्मचारियों की 3 दिवसीय हड़ताल को विफल करने के लिए सरकार ने ESMA तक लागू कर दिया था। इस संघर्ष को कुचलने के लिए BSNL मैनेजमेंट ने अपनी ओर से AUAB के लीडर्स को चार्जशीट्स दी गई और FR 17A जैसी कार्यवाही भी की गई थी। कर्मचारियों को धरना प्रदर्शन में शामिल होने पर भी मैनेजमेंट द्वारा अनुशासनात्मक कार्यवाही करने की धमकियां दी गई। इसके बावजूद, इन सभी प्रताड़नात्मक कार्यवाही से जुझते  हुए, BSNL के कर्मचारियों-अधिकारियों ने चट्टानी दृढ़ता के साथ सभी संयुक्त संघर्षों और अभियानों में शिरकत की। नुक्कड़ सभाएं, रैलीज , मानव श्रृंखला जैसे कार्यक्रमों के माध्यम से यूनियन्स व एसोसिएशन्स ने आम नागरिकों के बीच पहुंच कर अभियान चलाया, जिससे BSNL के रिवाइवल के लिए आम जनता की भी सहानुभूति प्राप्त हुई। BSNL के रिवाइवल हेतु हमने जो कुछ भी हासिल किया है, वह निःसंदेह BSNL के कर्मचारियों अधिकारियों द्वारा अनवरत रूप से किए गए संयुक्त संघर्षों का पुरस्कार है।

 
[25th Oct 2019]

कैबिनेट द्वारा अनुमोदित रिवाइवल पैकेज का BSNL मैनेजमेंट ने यूनियन्स और एसोसिएशन्स को प्रेजेंटेशन दिया....

 

कल BSNL मैनेजमेंट द्वारा सभी यूनियन्स और एसोसिएशन्स को  कैबिनेट द्वारा अनुमोदित रिवाइवल पैकेज का प्रेजेंटेशन दिया गया। CMD BSNL व BSNL बोर्ड के अन्य डायरेक्टर्स मौजूद थे।

प्रेजेंटेशन CMD BSNL व डायरेक्टर (HR) द्वारा दिया गया। जैसा कि प्रेजेंटेशन में बताया गया, रिवाइवल पैकेज में BSNL को 4G स्पेक्ट्रम का आवंटन, VRS का कार्यान्वयन, BSNL और MTNL द्वारा रु 15,000 के बॉन्ड जारी करना, जिसे सरकार द्वारा सार्वभौम गारंटी प्राप्त होगी, लगभग रु 20,000 करोड़ की BSNL की भूमि का मुद्रीकरण जिसकी प्राप्तियों का उपयोग ऋण भुगतान के लिए होगा और BSNL व MTNL का विलय जिसके तहत MTNL, BSNL की अनुषंगी होगी, शामिल है। VRS के संबंध में बताया गया कि 50 वर्ष से अधिक आयु के BSNL में समाहित (absorbed) सभी कर्मचारी इसका लाभ ले सकेंगे। एक्सग्रेशिया+पेंशन की राशि शेष नौकरी की समयावधि के 125% वेतन से अधिक नही होगी। यह एक्सग्रेशिया राशि सरकार द्वारा 2 किश्तों में दी जाएगी। प्रथम किश्त इस वित्तीय वर्ष यानी 2019-20 में दी जाएगी और अगली किश्त का भुगतान आगामी वित्तीय वर्ष यानी 2020-21 में होगा। ग्रेच्यूईटी और पेंशन कम्युटेशन की राशि का भुगतान वास्तविक सेवानिवृत्ति दिनांक को होगा, यानी 60 वर्ष पूर्ण करने पर। DoT से आदेश प्राप्त होने पर VRS कार्यान्वन्यन हेतु समयावधि निश्चित की जाएगी।

 
You are Visitor Number Hit Counter
Hit Counter
[CHQ] [AP] [Kerala] [Karnataka] [Tamil Nadu] [Calcutta] [West Bengal] [Punjab] [Maharashtra] [Orissa] [MP] [Gujrat] [SNEA] [AIBSNLEA] [TEPU]
[Intranet / BSNL] [DOT] [DPE] [TRAI] [PIB] [CITU ] / AIBDPA